Pronoun In Hindi, Types of Pronoun, Defination : सर्वनाम क्या है और कितने प्रकार के होता है।

आज के इस पोस्ट में हम सभी सिखने वाले है की “Pronoun In Hindi, Types of Pronoun, Defination, What is pronoun in hindi, pronoun kya hai .” सर्वनाम क्या है और कितने प्रकार के होता है।

Pronoun In Hindi

किसी भी वाक्य को स्पष्ट एवं प्रभावशाली ढंग से व्यक्त करने के लिए Noun के स्थान पर सर्वनाम (Pronoun) का प्रयोग किया जाता है। क्योंकि किसी भी वाक्य में संज्ञा का बार-बार प्रयोग करना अच्छा नहीं माना जाता है। अतः वाक्य को अधिक प्रभावशाली एवं उपयोगी बनाने के लिए हिन्दी सर्वनाम का प्रयोग किया जाता है।भाषण के सबसे महत्वपूर्ण भागों में से एक सर्वनाम है। इसका प्रयोग अक्सर वाक्यों में संज्ञा के स्थान पर किया जाता है। क्योंकि यह वाक्य को सुंदर और पठनीय बनाता है। विशेषज्ञ इस बात से सहमत हैं कि “सर्वनाम” का प्रयोग कभी-कभी शब्द के अर्थ के आधार पर किया जाता है।

Pronoun In Hindi, Types of Pronoun, Definition

What is a pronoun in Hindi (प्रोनाउन क्या है)

Definition of Pronoun in Hindi: The word that is used in place of Noun is called Pronoun. E.g. He, They, I, You, You, We, They, These etc.

प्रोनाउन की परिभाषा: संज्ञा ( Noun) के स्थान पर पयोग होने वाले शब्द को सर्वनाम कहते है । जैसे- वह, वे, मैं, आप, तुम , हम ,वे , ये इत्यादि । Pronoun को हिंदी में सर्वनामकहा जाता है।

नोट : किसी भी वाक्य में एक ही Noun (नाम) को बार-बार प्रयोग करना पड़ता है तो वह शब्द या वाक्य की सुन्दरता ख़त्म हो जाती है। यही मुख्य कारण है कि Noun के बदले Pronoun (सर्वनाम) का उपयोग होता है।

For Example:-

1. Pawan is a teacher but Pawan doesn’t teach any book. 

(पवन एक शिक्षक हैं लेकिन पवन कोई पुस्तक नहीं पढ़ाते हैं.)

2. Pawan is a teacher but he doesn’t teach any book.

(पवन एक शिक्षक हैं लेकिन वह कोई पुस्तक नहीं पढ़ाते हैं.)

Note:- एक ही वाक्य में बार-बार Pawan का प्रयोग करना अच्छा नहीं है. इसलिए, अर्थ के अनुसार Pronoun का प्रयोग किया जाता है ताकि वाक्य बेहतर अर्थ प्रस्तुत कर सके।

उदाहरण 1 एक में Pawan दो बार आया है जो पढ़ने में अच्छा नही लग रहा है, इसलिए, दुसरें वाक्य में Pawan के बदले He प्रयोग हुआ है।

सर्वनाम के प्रकार (Types of Pronoun in Hindi)

Types of Pronoun in Hindi – जिनका उपयोग हम लिखने और बोलने में करते हैं। अभी के लिए, हम इनमें से प्रत्येक विभिन्न प्रकार पर संक्षेप में नज़र डालेंगे। यदि आप प्रत्येक को अधिक विस्तार से जानना चाहते हैं, नीचे दिए गए Types of Pronoun in Hindi में प्रत्येक प्रकार के सर्वनाम के लिए एक व्यापक मार्गदर्शिका प्रदान की है। Pronoun मुख्यत दस प्रकार के होते है।

  1. Personal Pronoun (पुरुषवाचक)
  2. Reflexive Pronoun (निजवाचक)
  3. Emphatic Pronoun (दृढ़तावाचक सर्वनाम).
  4. Reciprocal Pronoun (पारस्परिक सर्वनाम)
  5. Demonstrative Pronoun (संकेत वाचक)
  6. Indefinite Pronoun (अनिश्चयवाचक सर्वनाम )
  7. Interrogative Pronoun (प्रश्नवाचक सर्वनाम )
  8. Distributive Pronoun (विभाजन वाचक)
  9. Relative Pronoun (सम्बन्धवाचक)
  10. Exclamatory Pronoun (विस्मयवाचक)

पुरुषवाचक सर्वनाम (Personal Pronoun) की परिभाषा: पुरुषवाचक सर्वनाम व्यक्ति की पहचान के आधार पर प्रयुक्त होते हैं, जिनसे व्यक्ति अपने आप को, दूसरे व्यक्तियों को या चीजों को इशारा करते हैं। इनमें प्रथम पुरुष (व्यक्ति की ओर से), द्वितीय पुरुष (व्यक्ति से व्यक्ति की ओर) और तृतीय पुरुष (व्यक्ति से बाहरी व्यक्ति या वस्तु की ओर) शामिल होते हैं।

जिस सर्वनाम का प्रयोग व्यक्ति या वस्तु (चीज़) के स्थान पर किया जाता है, उसे व्यक्तिवाचक सर्वनाम कहते हैं। (The pronoun which is used in place of person or thing is called Personal Pronoun.)

I, we, you, he, she, it and they are called Personal Pronouns. – मैं, हम, आप, वह, वह, और वे व्यक्तिगत सर्वनाम कहलाते हैं. 

उदाहरण:

  1. प्रथम पुरुष (First Person):
    • मैं बहुत खुश हूँ। – I am happy.
    • हम आज पार्टी में जा रहे हैं। – We are going to the party today.
  2. द्वितीय पुरुष (Second Person):
    • तू कैसा है? – How are you?
    • तुम यहाँ क्यों आए हो? – why have you come here
  3. तृतीय पुरुष (Third Person):
    • वह बच्चा बहुत खुशी से हँस रहा है। – That child is laughing very happily.
    • वे लोग आजकल बहुत व्यस्त हैं। – They are very busy these days.
PersonSingular NumberPlural Number
1st PersonIWe
2nd PersonYouYou
3rd PersonHe, she, it, NameThey

निजवाचक सर्वनाम (Reflexive Pronoun) : निजवाचक सर्वनाम वह सर्वनाम होते हैं जिनका उपयोग वाक्य में ऐसे क्रिया के साथ किया जाता है जिसका क्रियाप्रवृत्ति वाक्य में प्रवृत्ति करने वाले व्यक्ति पर प्रभाव डालता है।

उदाहरण:

  1. मैंने खुद को सिखाया। – I taught myself
  2. उसने अपने आप को समझाया। – He explained himself.
  3. तुमने खुद को बहुत मेहनत करने का आश्वासन दिया। – You assured yourself to work very hard.
  4. हमने खुद को स्वस्थ रहने के लिए योग किया। – We did yoga to keep ourselves healthy.
  5. उन्होंने अपने आप को समझाने की कोशिश की। – He tried to explain himself.

इन वाक्यों में, “स्वयं” या “अपने आप” का उपयोग निजवाचक सर्वनाम के रूप में हो रहा है, जो क्रिया के प्रवृत्ति को व्यक्ति पर प्रभावित करते हैं।

दृढ़तावाचक सर्वनाम (Emphatic Pronoun) की परिभाषा: दृढ़तावाचक सर्वनाम वह सर्वनाम होते हैं जो वाक्य में प्रयुक्त होकर किसी विशेष क्रिया, विशेष वस्तु या विशेष व्यक्ति पर विशेष बल देते हैं। इनका प्रयोग विशेषत: जब आप किसी क्रिया, वस्तु या व्यक्ति को महत्वपूर्ण और प्रमुख बनाना चाहते हैं, तो आप दृढ़तावाचक सर्वनाम का उपयोग करते हैं।

उदाहरण:

  1. हिंदी:
    • मैं ही खुद तय कर सकता हूँ।
    • वही तुम्हारे साथ रहेगा।
    अंग्रेजी:
    • I myself can decide.
    • He himself will stay with you.
  2. हिंदी:
    • मैंने खुद ही उसे देखा।
    • वे खुद ही अपना काम कर सकते हैं।
    अंग्रेजी:
    • I saw him myself.
    • They themselves can do their work.

इन वाक्यों में, “ही” या “ही खुद” दृढ़तावाचक सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त हो रहे हैं, जिनसे उन शब्दों को विशेष बल दिया जा रहा है और उन्हें महत्वपूर्ण बनाया जा रहा है।

पारस्परिक सर्वनाम (Reciprocal Pronoun) की परिभाषा: पारस्परिक सर्वनाम वह सर्वनाम होते हैं जिन्हें दो या दो से अधिक व्यक्तियों के बीच किए जाने वाले क्रियाप्रवृत्ति का बोध कराने के लिए प्रयुक्त किया जाता है। ये सर्वनाम व्यक्तियों के आपसी संबंध को दर्शाने में मदद करते हैं।

उदाहरण:

  1. हिंदी:
    • हम एक-दूसरे से मिलते रहते हैं।
    • वे एक-दूसरे को समझते हैं।
    अंग्रेजी:
    • We meet each other often.
    • They understand each other.
  2. हिंदी:
    • तुम एक-दूसरे के साथ बैठो।
    • हम एक-दूसरे की मदद करेंगे।
    अंग्रेजी:
    • Sit with each other.
    • We will help each other.

इन वाक्यों में, “एक-दूसरे” पारस्परिक सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त हो रहे हैं, जिनसे व्यक्तियों के आपसी संबंध का प्रकटीकरण हो रहा है।

संकेत वाचक सर्वनाम (Demonstrative Pronoun): संकेत वाचक सर्वनाम वे सर्वनाम होते हैं जिन्हें वाक्य में किसी विशेष वस्तु की पहचान के लिए प्रयुक्त किया जाता है। ये सर्वनाम वाक्य में विशेष वस्तु की स्थिति या दिशा को प्रकट करने में मदद करते हैं।

उदाहरण:

  1. हिंदी:
    • यह किताब मेरी है।
    • वह बड़ी उम्र के हो गए हैं।
    अंग्रेजी:
    • This book is mine.
    • Those have grown older.
  2. हिंदी:
    • इसका मतलब क्या है?
    • उनकी ज्यादातर मदद सहायक थी।
    अंग्रेजी:
    • What does this mean?
    • Most of theirs help was useful.

इन उदाहरणों में, “यह”, “वह”, “इसका”, “उनकी” आदि संकेत वाचक सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त हो रहे हैं, जिनसे वाक्य में विशेष वस्तु की पहचान हो रही है।

अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Indefinite Pronoun) की परिभाषा: अनिश्चयवाचक सर्वनाम वे सर्वनाम होते हैं जिनका उपयोग वाक्य में अनिश्चित संख्या या अनिश्चित वस्तु की ओर इशारा करने के लिए किया जाता है। इनमें कुछ सर्वनाम संख्या के आधार पर होते हैं, जैसे कि “कुछ”, “कोई”, आदि, और कुछ अन्य सर्वनाम वस्तु के प्रकार या विशेषताओं की ओर इशारा करते हैं, जैसे कि “कुछ”, “कुछ भी”, आदि।

उदाहरण:

  1. हिंदी:
    • कोई आया था।
    • मैंने कुछ देखा है।
    अंग्रेजी:
    • Someone came.
    • I saw something.
  2. हिंदी:
    • कुछ लोग सड़क पर खड़े हैं।
    • कुछ भी हो सकता है।
    अंग्रेजी:
    • Some people are standing on the street.
    • Anything is possible.

इन उदाहरणों में, “कोई”, “कुछ”, “कुछ भी” आदि अनिश्चयवाचक सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त हो रहे हैं, जो अनिश्चित संख्या या अनिश्चित वस्तु की पहचान के लिए प्रयुक्त हो रहे हैं।

प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun) की परिभाषा: प्रश्नवाचक सर्वनाम वे सर्वनाम होते हैं जिनका उपयोग प्रश्न पूछने के लिए किया जाता है। इन सर्वनामों के माध्यम से पूछे जाने वाले प्रश्न की ओर इशारा होता है और इसका उत्तर प्रदान किया जा सकता है।

उदाहरण:

  1. हिंदी:
    • कौन आया?
    • आपका कितना बच्चा है?
    अंग्रेजी:
    • Who came?
    • How many children do you have?
  2. हिंदी:
    • क्या तुमने खाना खाया?
    • तुम्हारा कौनसा गाना पसंद है?
    अंग्रेजी:
    • Did you eat food?
    • Which song do you like?

इन उदाहरणों में, “कौन”, “क्या”, “कितना”, “कौनसा” आदि प्रश्नवाचक सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त हो रहे हैं, जिनके माध्यम से प्रश्न पूछे जा रहे हैं।

प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun) की परिभाषा: प्रश्नवाचक सर्वनाम वे सर्वनाम होते हैं जिनका उपयोग प्रश्न पूछने के लिए किया जाता है। इन सर्वनामों के माध्यम से पूछे जाने वाले प्रश्न की ओर इशारा होता है और इसका उत्तर प्रदान किया जा सकता है।

उदाहरण:

  1. हिंदी:
    • कौन आया?
    • आपका कितना बच्चा है?
    अंग्रेजी:
    • Who came?
    • How many children do you have?
  2. हिंदी:
    • क्या तुमने खाना खाया?
    • तुम्हारा कौनसा गाना पसंद है?
    अंग्रेजी:
    • Did you eat food?
    • Which song do you like?

इन उदाहरणों में, “कौन”, “क्या”, “कितना”, “कौनसा” आदि प्रश्नवाचक सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त हो रहे हैं, जिनके माध्यम से प्रश्न पूछे जा रहे हैं।

सम्बन्धवाचक सर्वनाम (Relative Pronoun) की परिभाषा: सम्बन्धवाचक सर्वनाम वे सर्वनाम होते हैं जिनका उपयोग एक प्रधान वाक्य के साथ एक संवादवाक्य का निर्माण करने में किया जाता है जिससे कि संवादवाक्य में किसी विशिष्ट व्यक्ति या वस्तु के संबंध का बोध हो सके।

उदाहरण:

  1. हिंदी:
    • वह व्यक्ति जिसने आपकी मदद की है, मेरे पिता का दोस्त है।
    • यह किताब जो मैंने ख़रीदी है, बहुत रोचक है।
    अंग्रेजी:
    • The person who helped you is my father’s friend.
    • The book that I bought is very interesting.
  2. हिंदी:
    • वह बच्चा जिसकी माँ विद्यालय की अध्यापिका है, मेरे साथ पढ़ता है।
    • यह घर जो हम देख रहे हैं, मेरे दोस्त का है।
    अंग्रेजी:
    • The child whose mother is a school teacher studies with me.
    • The house which we are looking at belongs to my friend.

इन उदाहरणों में, “जिसने”, “जो”, “जिसकी”, “जो” सम्बन्धवाचक सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त हो रहे हैं, जिनका उपयोग संवादवाक्य के निर्माण में किया जा रहा है जो कि प्रधान वाक्य के साथ संबंधित व्यक्ति या वस्तु के संबंध का बोध कराते हैं।

विस्मयवाचक सर्वनाम (Exclamatory Pronoun) की परिभाषा: विस्मयवाचक सर्वनाम वे सर्वनाम होते हैं जिनका उपयोग वाक्य में विस्मय, आश्चर्य, अचरज आदि की भावना को व्यक्त करने के लिए किया जाता है। इन सर्वनामों का उपयोग प्रश्नवाचक स्वर से किये जाने वाले प्रश्नों या उत्तरों में किया जा सकता है।

उदाहरण:

  1. हिंदी:
    • ऐसा कैसे हो सकता है!
    • वाह, तुमने यह कैसे किया?
    अंग्रेजी:
    • How can this be!
    • Wow, how did you do this?
  2. हिंदी:
    • यह कैसे हो गया?
    • अच्छा, तुमने यह कैसे जान लिया?
    अंग्रेजी:
    • How did this happen!
    • Oh, how did you figure this out?

इन उदाहरणों में, “कैसे”, “वाह”, “अच्छा” विस्मयवाचक सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त हो रहे हैं, जिनसे वाक्य में विस्मय, आश्चर्य आदि की भावना प्रकट हो रही है।

FAQs:

  1. सर्वनाम क्या होते हैं? सर्वनाम वे शब्द होते हैं जिनका उपयोग संज्ञा के स्थान पर किया जाता है ताकि वाक्य को सुगमता और व्यावसायिकता मिले।
  2. सर्वनाम के कितने प्रकार होते हैं? सर्वनाम के कई प्रकार होते हैं जैसे कि व्यक्तिवाचक सर्वनाम, निजवाचक सर्वनाम, दृढ़तावाचक सर्वनाम, पारस्परिक सर्वनाम, संकेतवाचक सर्वनाम, अनिश्चयवाचक सर्वनाम, सम्बन्धवाचक सर्वनाम आदि।
  3. सर्वनाम का क्या महत्व होता है? सर्वनाम का प्रयोग वाक्य में संज्ञा की पुनरावृत्ति से बचने और वाक्य को सुगमता से पठने के लिए किया जाता है। यह भी व्यक्ति या वस्तु की पहचान को स्पष्ट करने में मदद करता है।
  4. सर्वनाम के उदाहरण क्या हैं?
    • मैं बहुत खुश हूँ। (व्यक्तिवाचक सर्वनाम)
    • उसने अपने आप को समझाया। (निजवाचक सर्वनाम)
    • खुद खाओ, मैं बहुत खाया हूँ। (दृढ़तावाचक सर्वनाम)
    • हम एक-दूसरे से मिलते रहते हैं। (पारस्परिक सर्वनाम)
    • यह कौनसा गाना है? (संकेतवाचक सर्वनाम)
    • कुछ लोग सड़क पर खड़े हैं। (अनिश्चयवाचक सर्वनाम)
    • वह व्यक्ति जो मेरे साथ खड़ी है, मेरा दोस्त है। (सम्बन्धवाचक सर्वनाम)
  5. सर्वनाम का प्रयोग कब किया जाता है? सर्वनाम का प्रयोग संज्ञा की पुनरावृत्ति से बचने, व्यक्ति या वस्तु की पहचान करने और वाक्य को सुगमता से पठने के लिए किया जाता है। यह वाक्य को संक्षेपित और सुव्यवस्थित बनाता है।
  6. क्या सर्वनाम अन्य शब्दों से भिन्न होते हैं? हाँ, सर्वनाम अन्य शब्दों से भिन्न होते हैं क्योंकि ये संज्ञा की जगह पर प्रयुक्त होते हैं और वाक्य को संक्षेपित और व्यावसायिक बनाते हैं।
  7. सर्वनाम के क्या उदाहरण हो सकते हैं? व्यक्तिवाचक सर्वनाम: मैं, तुम, वह, हम, आप, वे निजवाचक सर्वनाम: खुद, आपका आपना, मेरा अपना, उसका अपना दृढ़तावाचक सर्वनाम: खुद, आपके आप, खुद ही, आप ही पारस्परिक सर्वनाम: एक-दूसरे, हम-आप, उन-हम, तुम-वे संकेतवाचक सर्वनाम: यह, वह, ऐसा, उसका अनिश्चयवाचक सर्वनाम: कोई, कुछ, हर कोई, कुछ भी सम्बन्धवाचक सर्वनाम: जो, जिसकी, जिसने, जिसके
  8. सर्वनाम का क्या महत्व है? सर्वनाम वाक्य को संज्ञा की पुनरावृत्ति से बचाते हैं, व्यक्ति या वस्तु की पहचान करते हैं और वाक्य को सुगमता से पठने में मदद करते हैं। ये वाक्य को संक्षेपित और प्रभावी बनाते हैं।
  9. क्या सर्वनाम किसी वाक्य का काम कर सकते हैं? हाँ, सर्वनाम का काम किसी वाक्य के सुचना देने, संक्षिप्त करने, या वाक्य की पूरी स्थिति को स्पष्ट करने में किया जा सकता है।
  10. सर्वनाम का क्या प्रयोग होता है? सर्वनाम का प्रयोग व्यक्ति या वस्तु की पुनरावृत्ति से बचाने, वाक्य को संक्षेपित करने, और वाक्य को सुगमता से पठने में किया जाता है। ये व्यक्ति के बीच संवाद को भी सुगम बनाते हैं।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने Pronoun In Hindi, Types of Pronoun, Defination : सर्वनाम क्या है और कितने प्रकार के होता है।, हमें उम्मीद है आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा। कमेंट कर के बताये की आपको यह पोस्ट कैसे लगा।

यह भी पढ़े।

Leave a Comment